आपकी उपयोगी रचनाओं एवं टिप्पणियों का स्वागत है.

उपयोगी सूचना

हिन्दी भाषा के समाचारपत्र तथा पत्रिकाएं यदि अपने प्रकाशनों के लिए ‘मीडिया केयर नेटवर्क’, ‘मीडिया एंटरटेनमेंट फीचर्स’ तथा ‘मीडिया केयर न्यूज’ की सेवाएं नियमित प्राप्त करना चाहें तो हमसे ई-मेल द्वारा सम्पर्क करें। आपके अनुरोध पर सेवा शुल्क संबंधी तथा अन्य अपेक्षित जानकारियां उपलब्ध करा दी जाएंगी।

हम इन फीचर एजेंसियों के डिस्पैच में निम्नलिखित विषयों पर रचनाएं प्रसारित करते हैं तथा डिस्पैच कोरियर अथवा ई-मेल द्वारा उपलब्ध कराए जाते हैं:-

राजनीतिक लेख, रिपोर्ट एवं विश्लेषणात्मक टिप्पणी, राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय चर्चा, सामयिक लेख, फिल्म लेख एवं स्टार इंटरव्यू, फिल्म गॉसिप, ज्ञानवर्द्धक एवं मनोरंजक लेख, रहस्य-रोमांच, घर परिवार, स्वास्थ्य, महिला जगत, युवा जगत, व्यंग्य, कथा-कहानी, मनोरंजन, कैरियर , खेल, हैल्थ अपडेट, खोज खबर, महत्वपूर्ण दिवस, त्यौहारों अथवा अवसरों पर लेख, बाल कहानी, बाल उपयोगी रचनाएं, रोचक जानकारियां इत्यादि।

लेखक तथा पत्रकार विभिन्न विषयों पर अपनी उपयोगी अप्रकाशित रचनाएं प्रकाशनार्थ ई-मेल द्वारा भेज सकते हैं।
Share/Bookmark

अभी तक यहां आए पाठक

Saturday, December 29, 2012

बेकार न जाए दामिनी की शहादत

23 वर्षीया बहादुर लड़की दामिनी मरी नहीं है बल्कि शहीद हुई है और उसकी ये शहादत किसी भी कीमत पर बेकार नहीं जानी चाहिए. दामिनी ने अंतिम सांस तक लड़ते हुए नारी-उत्पीड़न मुक्त भारत का जो सपना देश के जनमानस की आंखों में जगाया है, उसे पूरा करने की जिम्मेदारी अब हमारी है. महिलाओं की आजादी, सुरक्षा और सम्मान को लेकर शुरू हुई यह जंग अब जारी रहनी चाहिए. यही दामिनी को हमारी सच्ची श्रद्धांजलि होगी.

Friday, December 21, 2012

राष्ट्रपति ... किसका राष्ट्रपति!


‘मीडिया एंटरटेनमेंट फीचर्स’ द्वारा ‘लोकमत समाचार’ में 21.12.12 को प्रकाशित

Thursday, December 20, 2012

बड़ी-बड़ी जानकारियां एकत्रित करेगी ‘स्मार्ट डस्ट’


दैनिक सन्मार्ग में 20.12.12 को प्रकाशित ‘मीडिया एंटरटेनमेंट फीचर्स’ की रिपोर्ट

बिगड़े मूड को सुधारे संगीत


दैनिक सन्मार्ग में 20.12.12 को प्रकाशित ‘मीडिया एंटरटेनमेंट फीचर्स’ की रिपोर्ट

Monday, December 17, 2012

हमें फेसबुक पर पसंद करें

हमें फेसबुक पर पसंद करने के लिए नीचे के लिंक पर क्लिक करने के पश्चात् Like बटन पर क्लिक करें

बच्चों को पालने वाली नर मछली


तीन आंखों वाला विचित्र जंतु


‘मीडिया केयर नेटवर्क’ द्वारा ‘पंजाब केसरी’ में 16.12.12 को प्रकाशित

बुद्धिमान रोबोट

‘मीडिया एंटरटेनमेंट फीचर्स’ द्वारा 13.12.12 को दैनिक सन्मार्ग में प्रकाशित

Friday, December 07, 2012

क्या है रहस्य हिममानव का?


7.12.12 को ‘लोकमत समाचार’ में प्रकाशित ‘मीडिया केयर नेटवर्क’ की रिपोर्ट

शहद के चमत्कारिक गुण


7.12.12 को ‘पंजाब केसरी’ में प्रकाशित ‘मीडिया एंटरटेनमेंट फीचर्स’ की रिपोर्ट


‘मीडिया एंटरटेनमेंट फीचर्स’ द्वारा ‘दैनिक सन्मार्ग’ में 13.12.12 को प्रकाशित

आराम फरमाएं, उम्र बढ़ाएं


7.12.12 को ‘पंजाब केसरी’ में प्रकाशित ‘मीडिया एंटरटेनमेंट फीचर्स’ की रिपोर्ट

Thursday, December 06, 2012

टोपी वाला बंदर


‘लोकमत समाचार’ में 6.12.2012 को प्रकाशित

Tuesday, December 04, 2012

बिगड़े मूड को सुधारे संगीत


‘पंजाब केसरी’ में प्रकाशित ‘मीडिया एंटरटेनमेंट फीचर्स’ की रिपोर्ट

Saturday, November 24, 2012

हर 5 में से 1 पुरूष के पास महिला का दिमाग


‘पंजाब केसरी’ में प्रकाशित योगेश कुमार गोयल की रिपोर्ट

Thursday, November 22, 2012

Like योगेश कुमार गोयल on facebook

Click on below link & after Log-In your facebook account, click "Like" button.

https://www.facebook.com/MediaCareNetwork?ref=hl

अनोखे जीव-जंतु



‘मीडिया केयर नेटवर्क’ द्वारा ‘पंजाब केसरी’ में प्रकाशित

Tuesday, November 13, 2012

दीपावली का संदेश


‘मीडिया केयर नेटवर्क’ द्वारा ‘पंजाब केसरी’ में प्रकाशित लेख

Sunday, November 11, 2012



यह ‘प्रकाश पर्व’ आपके जीवन में खुशियां ही खुशियां भर दे, इसी कामना के साथ ‘दीप पर्व’ के पावन अवसर पर हार्दिक बधाई.

Wednesday, October 24, 2012

पढ़ाई के साथ अपनी रूचियों का भी करें विकास


‘मीडिया केयर नेटवर्क’ द्वारा ‘पंजाब केसरी’ (जालंधर)
में प्रकाशित नरेन्द्र देवांगन का लेख

Sunday, October 21, 2012

क्या है रहस्यों का रहस्य?


संगीत सुनें, बीमारियां दूर भगाएं


अब बनेंगे बायोजेनेटिक क्लोनिंग वाले जीव


‘मीडिया एंटरटेनमेंट फीचर्स’ द्वारा पंजाब केसरी में प्रकाशित
योगेश कुमार गोयल की रिपोर्ट

हड्डियां कमजोर करने वाला जीन


‘मीडिया एंटरटेनमेंट फीचर्स’ द्वारा पंजाब केसरी में प्रकाशित
योगेश कुमार गोयल की रिपोर्ट

एक किलो शहद इकट्ठा करने के लिए मधुमक्खी लगाती है पृथ्वी के 12 चक्कर


रहें ‘आई फ्लू’ से सावधान


औषधीय गुणों से भरपूर गुलाब जल


कैरियर: नई जरूरतें, नए अवसर


‘मीडिया केयर नेटवर्क’ द्वारा ‘पंजाब केसरी’ में प्रकाशि
नरेन्द्र देवांगन का लेख

जमीन पर रेंगकर चल सकने वाली मछली


Monday, October 15, 2012

मलाला के जज्बे को सलाम!



-- श्रीगोपाल ‘नारसन’ (मीडिया केयर नेटवर्क)


इन दिनों नवरात्र चल रहे हैं। मां दुर्गा के सभी नौ रूपों की पूजा की जा रही है। देवी भक्त नौ दिनों तक लगातार उपवासरत रहकर देवी मां की अराधना कर रहे हैं और कन्याओं को देवी रूप मानकर उनकी पूजा अर्चना कर रहे हैं लेकिन पाकिस्तान में एक ऐसी देवी है, जिसने कट्टरपंथी तालिबान को धूल चटा दी है। मात्र 11 साल की आयु से इन कट्टरपंथी तालिबानियों से बिना किसी हथियार के लोहा लेने वाली इस देवी का नाम मलाला यूसुफजई है।
यूं तो मलाला यूसुफजई पाकिस्तान के स्वात जिले के मिंगोरा शहर की एक साधारण लड़की ही थी और एक स्कूल में पढ़ने जाया करती थी। उसे स्कूल और किताबों के सिवाय कुछ मालूम न था। तभी सन् 2007 में एक दिन जब वह रोजाना की तरह स्कूल गई तो उसे अपना स्कूल बंद मिला। जब उसने स्कूल बंद होने का कारण जानना चाहा तो उसे बताया गया कि तालिबान के फरमान से स्कूल हमेशा के लिए बंद कर दिया गया है।

मलाला को स्कूल का अचानक यूं बंद होना बहुत बुरा लगा और वह घर लौटकर रात भर सो नहीं पाई। उसने अपने अब्बा से तालिबान की इस गलत हेकड़ी को लेकर लंबी चर्चा की। वह चाहती थी कि तालिबान की इस हरकत का सब विरोध करें लेकिन जब दूसरा कोई तैयार नहीं हुआ तो मलाला ने स्वयं ही तालिबान के खिलाफ मोर्चा तानने का फैसला कर लिया।
शुरू-शुरू में उसके अब्बा ने उसे समझाया भी कि बेटी अभी तुम्हारी उम्र बहुत कम है, तुम कैसे इन कट्टरपंथियों को सबक सिखा पाओगी लेकिन मलाला अपनी जिद पर अड़ी रही और उसने तालिबान को सीधी उसी के घर में चुनौती देते हुए अपनी हमउम्र लड़कियों को तालीम दिलाने का फैसला कर लिया। मलाला को तालीम की अहमियत का पता ही तब चला, जब तालिबानियों ने उसके स्कूल को जबरन बंद करा दिया। जबरन स्कूल बंदी से मलाला में कायम हुए प्रतिवाद के इस गजब के जज्बे ने उसे आगे बढ़ने का हौंसला दिया और वह तालिबानियों के फरमान के खिलाफ तालीम की लौ जलाने में कामयाब होती चली गई। तालिबान को छोड़कर सभी ने मलाला के इस हौंसले की दाद दी और उसके अब्बा, जो कि स्वयं भी एक शिक्षाविद् व जाने-माने शायर हैं, ने अपनी बेटी के इस गजब के हौंसले में उड़ान भरने के लिए पंख लगाए।
इस बालिका के समाज को बदलने और तालिबान की मनमानी रोकने की पहल से प्रभावित होकर बीबीसी उर्दू ने मलाला की दास्तां डायरी रूप में प्रसारित करनी शुरू की। हालांकि इस डायरी के प्रसारण में मलाला की पहचान छिपाते हुए उसे ‘गुल मकई’ नाम दिया गया। यह नाम मलाला और उसकी अम्मी को बहुत भाया। धीरे-धीरे आम जनमानस और कट्टरपंथी तालिबान को भी पता चल गया कि मलाला ही ‘गुल मकई’ है। बस फिर क्या था, पाकिस्तान समेत दुनियाभर के देशों में मलाला के हौंसले की तारीफ होने लगी। स्वयं पाकिस्तान सरकार ने मलाला के इस कदम को मुल्क की तरक्की में मील का पत्थर बताया और तालिबान से लोहा लेकर देश में अमन का नया रास्ता खोलने के एवज में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने सन् 2011 में मलाला को राष्ट्रीय युवा शांति पुरस्कार से नवाजा। शायद मलाला पाकिस्तान में सबसे कम उम्र की ऐसी लड़की है, जिसे यह राष्ट्रीय सम्मान हासिल हुआ।
लेकिन मलाला के हौंसले से घबराए तालिबान को जब अपना अस्तित्व ही खतरे में पड़ता नजर आया तो उन्होंने मलाला के माध्यम से पूरी कौम को चुनौती देने के लिए मलाला पर बीती 9 अक्तूबर को जानलेवा हमला कर दिया। यह हमला उस समय हुआ, जब मलाला स्कूल से घर वापस लौट रही थी। तालिबानियों ने उसके सिर पर गोली चलाई। गोली मलाला के सिर में लग गई और वह मौके पर ही बेहोश हो गई। इन दिनों मलाला अस्पताल में अपना इलाज करा रही है। पूरी दुनिया के लोगों ने मलाला के शीघ्र स्वस्थ होने की दुआएं मांगी। पाकिस्तान की नन्हीं-मुन्नी उन बच्चियों से लेकर, जिनके हकों की लड़ाई मलाला लड़ रही है, बड़ों-बड़ों तक ने मलाला पर हुए हमले को कायराना हरकत बताते हुए उसकी सलामती की दुआएं की हैं। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री मलाला को देखने के लिए स्वयं अस्पताल गए तो अमेरिका की विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन तक ने मलाला के हौंसले को सलाम किया और तालिबान की हरकत को निन्दनीय बताया।
लेकिन तालिबान अभी भी धमकी दे रहा है कि वह मलाला को जिन्दा नहीं छोड़ेगा। दरअसल यह पाकिस्तान सरकार की कमजोरी ही है, जो तालिबान बार-बार सिर उठा रहा है। अभी तक तालिबान जैसे हिंसावादी सगंठनों का उपयोग भारत के लिए करते रहे पाकिस्तान को भी अब उसी आग में झुलसना पड़ रहा है, जिस आग को फैलाकर अशान्ति पैदा करने में पाकिस्तान अव्वल रहा है लेकिन मलाला जैसी शख्सियत का बाल भी बांका न हो और वह फले-फूले, इसके लिए भारत ही नहीं, पूरी दुनिया तालिबानियों से टकराव मोल ले सकती है। हमें मलाला के जज्बे को सलाम करना चाहिए, जो मात्र 11 साल की उम्र से निहत्थी रहकर भी तालिबानियों के लिए चुनौती का सबब बनी है।
नवरात्र के दिनों में अगर देवी पूजा करने वाले सभी देवी भक्त मलाला जैसी देवी दुनिया के हर देश, हर शहर व हर गांव में पैदा होने दें तो वह दिन दूर नहीं, जब कन्या भ्रूण हत्या करने वालो को मलाला जैसी शख्सियत सलाखों के पीछे पहुंचाने में देर नहीं लगाएगी और आधी दुनिया यानी नारी जाति के सम्मान की सहजता के साथ रक्षा हो सकेगी। बस, अब जरूरत है तो इस बात की कि मलाला की जान की हर हाल में हिफाजत हो और वह फिर से तालिबान को उनके घर में ही नेस्तनाबूद कर स्त्री शिक्षा की दुनिया भर में संवाहक बने। तभी दुनिया से कट्टरपंथियों की शिक्षा विरोधी सोच का अन्त होगा और शिक्षा ही तरक्की का नया पैमाना बन सकेगी। (एम सी एन)
(‘मीडिया केयर ग्रुप’ की विशेष प्रस्तुति)

Saturday, October 06, 2012

पितरों के प्रति आस्था का पर्व ‘श्राद्ध’


‘मीडिया केयर नेटवर्क’ द्वारा ‘लोकमत समाचार’ में प्रकाशित

गौ-हत्या


ये दृश्य पिछले दिनों हिन्दी के एक प्रतिष्ठित समाचारपत्र के अंदर के एक पन्ने पर प्रकाशित हुआ था, जिसमें कैलिफोर्निया के बूचड़खानों में गायों के नृशंस कत्ल की वीभत्स तस्वीरें दिखाई गई थी। गौ-हत्या के इस तरह के वीभत्स कृत्यों का आप अपने स्तर पर जितना विरोध कर सकते हैं, करें।

Thursday, September 20, 2012

विश्व का सबसे धीमा जानवर ‘स्लॉथ’


‘मीडिया केयर नेटवर्क’ द्वारा ‘पंजाब केसरी’ (जालंधर) में प्रकाशित

ये अनोखी दुनिया!



मीडिया केयर नेटवर्क द्वारा ‘लोकमत समाचार’ में प्रकाशित

पौधों के हार्मोन से होगा कैंसर का इलाज



‘मीडिया एंटरटेनमेंट फीचर्स’ द्वारा दैनिक सन्मार्ग में प्रकाशित

नींद क्यों नहीं आती रात भर?


‘मीडिया केयर नेटवर्क’ द्वारा दैनिक सन्मार्ग में प्रकाशित

त्वचा रोगों से मुक्ति के लिए घरेलू उपाय


‘मीडिया केयर नेटवर्क’ द्वारा दैनिक सन्मार्ग में प्रकाशित

आदेशों का पालन करेगा निजी कम्प्यूटर सहायक


‘मीडिया एंटरटेनमेंट फीचर्स’ द्वारा दैनिक सन्मार्ग में प्रकाशित

रोबोट कराएगा व्यायाम


‘मीडिया एंटरटेनमेंट फीचर्स’ द्वारा दैनिक सन्मार्ग में प्रकाशित

जान है जहान है


‘मीडिया एंटरटेनमेंट फीचर्स’ द्वारा दैनिक सन्मार्ग में प्रकाशित

विद्या बालन का इंटरव्यू


‘मीडिया केयर नेटवर्क’ द्वारा दैनिक सन्मार्ग में प्रकाशित

‘जी एम के’ वैक्सीन से त्वचा कैंसर का इलाज


‘मीडिया एंटरटेनमेंट फीचर्स’ द्वारा दैनिक सन्मार्ग में प्रकाशित

क्यों खड़े हो जाते हैं रोंगटे?


‘मीडिया एंटरटेनमेंट फीचर्स’ द्वारा दैनिक सन्मार्ग में प्रकाशित

गलती करने पर कहां से आती है ‘उफ्फ’?


‘मीडिया एंटरटेनमेंट फीचर्स’ द्वारा दैनिक सन्मार्ग में प्रकाशित

जान है तो जहान है



मीडिया एंटरटेनमेंट फीचर्स द्वारा दैनिक सन्मार्ग में प्रकाशित

शराब से आमाशय कैंसर!



‘मीडिया एंटरटेनमेंट फीचर्स’ द्वारा दैनिक सन्मार्ग में प्रकाशित

समय बहुमूल्य है, अतः एक-एक पल का सदुपयोग सार्थक कार्यों में करें.