आपकी उपयोगी रचनाओं एवं टिप्पणियों का स्वागत है.

उपयोगी सूचना

हिन्दी भाषा के समाचारपत्र तथा पत्रिकाएं यदि अपने प्रकाशनों के लिए ‘मीडिया केयर नेटवर्क’, ‘मीडिया एंटरटेनमेंट फीचर्स’ तथा ‘मीडिया केयर न्यूज’ की सेवाएं नियमित प्राप्त करना चाहें तो हमसे ई-मेल द्वारा सम्पर्क करें। आपके अनुरोध पर सेवा शुल्क संबंधी तथा अन्य अपेक्षित जानकारियां उपलब्ध करा दी जाएंगी।

हम इन फीचर एजेंसियों के डिस्पैच में निम्नलिखित विषयों पर रचनाएं प्रसारित करते हैं तथा डिस्पैच कोरियर अथवा ई-मेल द्वारा उपलब्ध कराए जाते हैं:-

राजनीतिक लेख, रिपोर्ट एवं विश्लेषणात्मक टिप्पणी, राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय चर्चा, सामयिक लेख, फिल्म लेख एवं स्टार इंटरव्यू, फिल्म गॉसिप, ज्ञानवर्द्धक एवं मनोरंजक लेख, रहस्य-रोमांच, घर परिवार, स्वास्थ्य, महिला जगत, युवा जगत, व्यंग्य, कथा-कहानी, मनोरंजन, कैरियर , खेल, हैल्थ अपडेट, खोज खबर, महत्वपूर्ण दिवस, त्यौहारों अथवा अवसरों पर लेख, बाल कहानी, बाल उपयोगी रचनाएं, रोचक जानकारियां इत्यादि।

लेखक तथा पत्रकार विभिन्न विषयों पर अपनी उपयोगी अप्रकाशित रचनाएं प्रकाशनार्थ ई-मेल द्वारा भेज सकते हैं।
Share/Bookmark

अभी तक यहां आए पाठक

Saturday, December 07, 2013

‘निष्पक्ष एवं नैतिक पत्रकारिता सम्मान’ के लिए चयनित हुए योगेश कुमार गोयल



वरिष्ठ पत्रकार श्री योगेश कुमार गोयल को ‘अखिल भारतीय स्वतंत्र लेखक मंच’ द्वारा वर्ष 2013 के ‘निष्पक्ष एवं नैतिक पत्रकारिता सम्मान’ के लिए चयनित किया गया है। उन्हें यह सम्मान संस्था द्वारा 22 दिसम्बर 2013 को गोल मार्किट, नई दिल्ली में मुक्तधारा ऑडिटोरियम में आयोजित भव्य समारोह में प्रदान किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि श्री गोयल पिछले कई वर्षों से तीन प्रतिष्ठित फीचर एजेंसियों का संचालन एवं सम्पादन कर रहे हैं तथा पिछले ढ़ाई दशकों में देशभर के विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में विभिन्न विषयों पर उनके अभी तक हजारों लेख प्रकाशित हो चुके हैं। उन्हें अब तक सरकारी व कई प्रतिष्ठित गैर सरकारी संस्थाओं द्वारा दर्जनों सम्मान प्राप्त हो चुके हैं। उनकी अब तक तीन पुस्तकें ‘मौत को खुला निमंत्रण’, ‘जीव-जंतुओं की अनोखी दुनिया’ तथा ‘तीखे तेवर’ प्रकाशित हो चुकी हैं और ये तीनों ही पुस्तकें विभिन्न संस्थाओं द्वारा पुरस्कृत की जा चुकी हैं। आकाशवाणी से भी उनकी अनेक विशेष वार्ताएं प्रसारित हो चुकी हैं।


No comments:

समय बहुमूल्य है, अतः एक-एक पल का सदुपयोग सार्थक कार्यों में करें.