आपकी उपयोगी रचनाओं एवं टिप्पणियों का स्वागत है.

उपयोगी सूचना

हिन्दी भाषा के समाचारपत्र तथा पत्रिकाएं यदि अपने प्रकाशनों के लिए ‘मीडिया केयर नेटवर्क’, ‘मीडिया एंटरटेनमेंट फीचर्स’ तथा ‘मीडिया केयर न्यूज’ की सेवाएं नियमित प्राप्त करना चाहें तो हमसे ई-मेल द्वारा सम्पर्क करें। आपके अनुरोध पर सेवा शुल्क संबंधी तथा अन्य अपेक्षित जानकारियां उपलब्ध करा दी जाएंगी।

हम इन फीचर एजेंसियों के डिस्पैच में निम्नलिखित विषयों पर रचनाएं प्रसारित करते हैं तथा डिस्पैच कोरियर अथवा ई-मेल द्वारा उपलब्ध कराए जाते हैं:-

राजनीतिक लेख, रिपोर्ट एवं विश्लेषणात्मक टिप्पणी, राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय चर्चा, सामयिक लेख, फिल्म लेख एवं स्टार इंटरव्यू, फिल्म गॉसिप, ज्ञानवर्द्धक एवं मनोरंजक लेख, रहस्य-रोमांच, घर परिवार, स्वास्थ्य, महिला जगत, युवा जगत, व्यंग्य, कथा-कहानी, मनोरंजन, कैरियर , खेल, हैल्थ अपडेट, खोज खबर, महत्वपूर्ण दिवस, त्यौहारों अथवा अवसरों पर लेख, बाल कहानी, बाल उपयोगी रचनाएं, रोचक जानकारियां इत्यादि।

लेखक तथा पत्रकार विभिन्न विषयों पर अपनी उपयोगी अप्रकाशित रचनाएं प्रकाशनार्थ ई-मेल द्वारा भेज सकते हैं।
Share/Bookmark

अभी तक यहां आए पाठक

Tuesday, January 23, 2018

डॉ दिनेश पाठक शशि को मिला श्रीधर पाठक नामित पुरस्कार

22 जनवरी 2018 बसंत पंचमी को मथुरा के साहित्यकार डॉ दिनेश पाठक शशि को उनके ब्रज भाषा कहानी संग्रह- "फूलो" के लिए लखनऊ में मुख्यमंत्री आवास पर आयोजित साहित्यकार सम्मान समारोह में उ.प्र.के मुख्यमंत्री माननीय श्री योगी आदित्यनाथ जी ने डॉ दिनेश पाठक शशि को शॉल ओढ़ाकर, प्रशस्ति-पत्र व पचास हज़ार रुपए का चैक प्रदान कर उ.प्र.हिन्दी संस्थान के वर्ष 2016 के श्रीधर पाठक नामित पुरस्कार से सम्मानित किया।

         इससे पूर्व दिनॉक 14.  नवम्बर .2017 को उ.प्र.हिन्दी संस्थान के यशपाल सभागार में आयोजित साहित्यकार सम्मान समारोह में संस्थान के कार्यकारी अध्यक्ष डॉ सदानन्द प्रसाद गुप्त, निदेशक श्री शिशिर जी व डॉ सूर्य कान्त दीक्षित जी ने डॉ दिनेश पाठक शशि को शॉल ओढ़ाकर प्रशस्ति-पत्र व इक्यावन हजार रुपए का चैक प्रदान कर "अमृत लाल नागर बाल कथा सम्मान" से सम्मानित किया था।
   डॉ दिनेश पाठक शशि को भारत सरकार के-"प्रेमचंद पुरस्कार" एवं "लाल बहादुर शास्त्री पुरस्कार" के साथ-साथ साहित्य मण्डल श्रीनाथ द्वारा राजस्थान में "साहित्य भूषण" आदि सहित अन्य अनेक साहित्यिक संस्थाओं के द्वारा पुरस्कृत व सम्मानित किया जा चुका है।
       डॉ दिनेश पाठक शशि के साहित्य पर आगरा विश्वविद्यालय से शोध कार्य करके एक छात्रा ने पीएचडी की उपाधि प्राप्त की है।
     कक्षा-1,4 व 6 के हिन्दी पाठ्य क्रम में डॉ दिनेश पाठक शशि की कहानियां शामिल की गई है।
   गत चार दशक से उनकी रचनाएं देश-विदेश की अनेक पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित हुई है और आकाशवाणी के विभिन्न चैनलों से प्रसारित होती रही हैं।
     उनकी एक कहानी पर डॉक्यूमेंट्री फिल्म का निर्माण भी हुआ है।

No comments:

समय बहुमूल्य है, अतः एक-एक पल का सदुपयोग सार्थक कार्यों में करें.