आपकी उपयोगी रचनाओं एवं टिप्पणियों का स्वागत है.

उपयोगी सूचना

हिन्दी भाषा के समाचारपत्र तथा पत्रिकाएं यदि अपने प्रकाशनों के लिए ‘मीडिया केयर नेटवर्क’, ‘मीडिया एंटरटेनमेंट फीचर्स’ तथा ‘मीडिया केयर न्यूज’ की सेवाएं नियमित प्राप्त करना चाहें तो हमसे ई-मेल द्वारा सम्पर्क करें। आपके अनुरोध पर सेवा शुल्क संबंधी तथा अन्य अपेक्षित जानकारियां उपलब्ध करा दी जाएंगी।

हम इन फीचर एजेंसियों के डिस्पैच में निम्नलिखित विषयों पर रचनाएं प्रसारित करते हैं तथा डिस्पैच कोरियर अथवा ई-मेल द्वारा उपलब्ध कराए जाते हैं:-

राजनीतिक लेख, रिपोर्ट एवं विश्लेषणात्मक टिप्पणी, राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय चर्चा, सामयिक लेख, फिल्म लेख एवं स्टार इंटरव्यू, फिल्म गॉसिप, ज्ञानवर्द्धक एवं मनोरंजक लेख, रहस्य-रोमांच, घर परिवार, स्वास्थ्य, महिला जगत, युवा जगत, व्यंग्य, कथा-कहानी, मनोरंजन, कैरियर , खेल, हैल्थ अपडेट, खोज खबर, महत्वपूर्ण दिवस, त्यौहारों अथवा अवसरों पर लेख, बाल कहानी, बाल उपयोगी रचनाएं, रोचक जानकारियां इत्यादि।

लेखक तथा पत्रकार विभिन्न विषयों पर अपनी उपयोगी अप्रकाशित रचनाएं प्रकाशनार्थ ई-मेल द्वारा भेज सकते हैं।
Share/Bookmark

अभी तक यहां आए पाठक

Wednesday, January 26, 2011

स्कूल में गुंडागर्दी किया करती थी प्रियंका चोपड़ा


प्रस्तुति: मीडिया केयर नेटवर्क ब्यूरो


अंदाज

मैं सफेद पायजामा और चिकन का टॉप पहनना पसंद करती हूं। चूड़ीदार सूट, छोटा कुर्ता और बंद गले के वस्त्र पसंद करती हूं। आमतौर पर रिलेक्स होने के लिए मैं जीन्स पहनती हूं। पार्टियों में जाने के समय मैं ठीक से कपड़े पहनती हूं। मुम्बई का मौसम ऐसा रहता है कि आप कई तरह के वस्त्र पहन सकते हैं। मेरे पसंदीदा रंग महरून, लेवेंडर, काला और सफेद हैं।

खानपान

मुझे खाना काफी पसंद है। अक्सर मैं अपने परिवार के साथ जुहू स्थित ‘तिआन’ रेस्तरां में जाती हूं। इसके अलावा कई और रेस्तरां भी मुझे पसंद हैं। मेरा भाई भी वहां जाना पसंद करता है। मैं उसके साथ सभी जगह जाना पसंद करती हूं। मैं पक्की मांसाहारी हूं। केवल सोमवार यानी शिवजी के दिन ही मैं शाकाहारी खाना पसंद करती हूं। नहीं तो रायता के साथ हैदराबादी बिरयानी खाना मुझे पसंद है। मुझे घी के साथ खिचड़ी खाना भी पसंद है। मेरे घर में दही के साथ आलू परांठा भी खूब खाया जाता है। नाश्ते में मैं एक अंडा और दो स्लाइस टोस्ट लेती हूं और इसके साथ एक गिलास दूध भी लेती हूं। मैं इस तरह खाती हूं कि कोई यकीन नहीं करेगा। मैं प्रतिदिन 4 घंटे नृत्य करती हूं, इसलिए फिल्मों में डांस करना मेरे लिए आसान हो गया। मेरे गुरूजी पंडित वीरू प्रसाद हैं।

गाड़ी

मेरे पास लैसर गाड़ी है। मुझे अच्छी कारें काफी पसंद हैं। मैं ड्राइव नहीं कर सकती। सन्नी देओल की कार में घूमना मुझे पसंद है। मुझे बाइक बहुत पसंद हैं मगर ‘मिस इंडिया’ प्रतियोगिता के थोड़े दिन पहले बाइक से ही मेरा एक्सीडेंट हो गया था। मुझे अक्षय कुमार की बाइक बहुत पसंद है, जिसे उसने फिल्म ‘तलाश’ में इस्तेमाल किया था। वैसे मैं अपने स्कूल में थोड़ी बहुत गुंडागर्दी कर लिया करती थी।

पुरूष

मुझे संवेदनशील और भावुक मर्द पसंद हैं। रोमांटिक स्वभाव वाले मर्द मुझे पसंद हैं, जो उपहार के लेन-देन में विश्वास करते हों, कैंडल नाइट डिनर में जिनकी रूचि हो और जो लंबी ड्राइव पर जाते हों। मुझे फूल बहुत पसंद हैं। जो मर्द कविता लिखते हैं, वे मुझे पसंद हैं। मैं गुलजार साहब की शायरी पसंद करती हूं। विदेशी शायरों में शेली मेरे पसंदीदा हैं। मुझे लगता है कि बुरे लोग भी मजेदार और दिलचस्प होते हैं। ब्रॉड पिट एक बुरा आदमी है मगर मैं उससे दोस्ती करना चाहूंगी।

खेल

क्रिकेट और बॉस्केटबाल मेरे पसंदीदा खेल हैं। क्रिकेट तो मुझे खासतौर पर पसंद है। जब मैं फिल्म ‘किस्मत’ की शूटिंग कर रही थी तो मेरा स्पॉट ब्वाय मेरी वैन के ऊपर एंटीना पकड़े खड़ा था ताकि मैं मैच देख सकूं। मैं देशभक्त भी हूं। भारतीय टीम अच्छा खेल रही है या खराब, यह मेरे लिए मायने नहीं रखता बल्कि मैं सभी मैच देखती हूं। स्कूल के दिनों में मैं लड़कों के साथ बॉस्केटबाल खेला करती थी। मैं छोटे और तंग कपड़े पहनती थी, जिससे वे परेशान हो जाते थे। कई बार तो वे मेरे साथ खेलने से ही इन्कार कर देते थे। बाद में मैं स्कूल में अमेरिकन फुटबाल खेलने लगी।

संगीत

संगीत और नृत्य मेरी जिंदगी के अहम हिस्से हैं। मैं आशा भोंसले और मोहम्मद रफी के पुराने गाने काफी पसंद करती रही हूं। मैंने संगीत से जुड़े काफी डी.वी.डी. संग्रहित किए हैं। पश्चिमी क्लासिकल में भी मैंने प्रशिक्षण लिया है। 4 साल मैं अमेरिका में थी और वहां सोपार्नो का प्रशिक्षण लिया। फिल्म ‘साथिया’ का टाइटल गीत मेरा पसंदीदा गीत है। संगीत के अलावा फिल्में भी मुझे पसंद हैं। जो फिल्म मुझे पसंद आती है, उसे मैं दोबारा देखती हूं। कभी मैं अपना म्यूजिक एलबम भी बनाऊंगी।

स्टार

मुझे करिश्मा कपूर का तौर तरीका बहुत पसंद रहा है। वह खास मौके के लिए ड्रैस पहनती हैं। सही समय के लिए सही कपड़े का चुनाव करती हैं। वे खूबसूरत और आत्मविश्वास से भरी लगती हैं। शाहरूख खान भी बहुत अच्छे ढ़ंग से कपड़े पहनते हैं। अमिताभ बच्चन जी भी ढ़ंग के कपड़े पहने नजर आते हैं।

व्यक्तित्व

मैं एक सामान्य व्यक्ति हूं और जितना मिल जाए, उतने में ही खुश रहती हूं। मैं कोई बहुत बड़ा बंगला नहीं चाहती। अगर मैं अपने परिवार को खुश रख पा रही हूं तो मेरे लिए यही काफी है। मुझे अपनी खुशी के लिए भारी भरकम चीजें नहीं चाहिएं। मेरे पास मेरा अपना मोबाइल, संगीत और नृत्य है। मैं अपने परिवार को शॉपिंग करते जाना देखना पसंद करती हूं। मेरे पास अच्छी नींद के लिए एक बिस्तर है। इतने से ही मैं खुश हूं। (एम सी एन)

No comments:

समय बहुमूल्य है, अतः एक-एक पल का सदुपयोग सार्थक कार्यों में करें.