आपकी उपयोगी रचनाओं एवं टिप्पणियों का स्वागत है.

उपयोगी सूचना

हिन्दी भाषा के समाचारपत्र तथा पत्रिकाएं यदि अपने प्रकाशनों के लिए ‘मीडिया केयर नेटवर्क’, ‘मीडिया एंटरटेनमेंट फीचर्स’ तथा ‘मीडिया केयर न्यूज’ की सेवाएं नियमित प्राप्त करना चाहें तो हमसे ई-मेल द्वारा सम्पर्क करें। आपके अनुरोध पर सेवा शुल्क संबंधी तथा अन्य अपेक्षित जानकारियां उपलब्ध करा दी जाएंगी।

हम इन फीचर एजेंसियों के डिस्पैच में निम्नलिखित विषयों पर रचनाएं प्रसारित करते हैं तथा डिस्पैच कोरियर अथवा ई-मेल द्वारा उपलब्ध कराए जाते हैं:-

राजनीतिक लेख, रिपोर्ट एवं विश्लेषणात्मक टिप्पणी, राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय चर्चा, सामयिक लेख, फिल्म लेख एवं स्टार इंटरव्यू, फिल्म गॉसिप, ज्ञानवर्द्धक एवं मनोरंजक लेख, रहस्य-रोमांच, घर परिवार, स्वास्थ्य, महिला जगत, युवा जगत, व्यंग्य, कथा-कहानी, मनोरंजन, कैरियर , खेल, हैल्थ अपडेट, खोज खबर, महत्वपूर्ण दिवस, त्यौहारों अथवा अवसरों पर लेख, बाल कहानी, बाल उपयोगी रचनाएं, रोचक जानकारियां इत्यादि।

लेखक तथा पत्रकार विभिन्न विषयों पर अपनी उपयोगी अप्रकाशित रचनाएं प्रकाशनार्थ ई-मेल द्वारा भेज सकते हैं।
Share/Bookmark

अभी तक यहां आए पाठक

Monday, July 12, 2010

ऐसे दूर करें शारीरिक एवं मानसिक थकान


हम सबकी दिनचर्या में कुछ ऐसे क्षण आते हैं, जब हम मानसिक और शारीरिक रूप से थकान अनुभव करते हैं। आमतौर पर हम अपनी थकान कुछ समय आराम करके दूर भगाने का प्रयास करते हैं किन्तु आराम के लिए अधिक समय की आवश्यकता होती है। हर समय आराम करना संभव भी नहीं होता। ऐसे में थकान दूर करने के लिए कई अन्य उपायों का सहारा लिया जा सकता है।

’ थकान अधिक होने पर हाथ-पांव ढ़ीले छोड़कर आंखें बंद कर पलंग पर लेट जाइए। इससे मांसपेशियों का तनाव दूर होता है।

’ अधिक समय खड़े होकर काम करने से पांव की एड़ियां दर्द करने लगती हैं। ऐसे में गर्म पानी में थोड़ा नमक डालकर पांव कुछ समय इस पानी में रखें, जिससे दर्द कम हो जाएगा।

’ टांगों की पिंडलियां दर्द करने पर घुटनों के ऊपर से ठंडा पानी डालें। पिंडलियों का दर्द कम हो जाएगा।

’ सफर के बाद थकान होने से घर या होटल पहुंचकर मौसम के अनुसार गुनगुने या ताजे पानी से स्नान करके ढ़ीले वस्त्र पहन लें।

’ अपनी रूचि और मौसम के अनुसार चाय, कॉफी, दूध, शर्बत, शिकंजी, जूस पीने से भी थकान से राहत मिलती है।

’ रसोई तथा घर के दूसरे कार्यों से निपटने के बाद ताजे पानी से हाथ-मुंह धोकर कपड़ बदल लें। बाल संवारने से भी थकान दूर होती है।

’ कमर दर्द करने पर दरी या चटाई बिछाकर फर्श पर सीधे लेटें। कमर दर्द अधिक होने पर गर्म पानी, रेत या नमक गर्म करके थैले में डालकर सेंक करने से भी आराम मिलता है।

’ काम के दौरान आराम न कर सकें तो आंखें बंद करके आंखों पर हथेलियां रख लें, जिससे आंखों को आराम मिलेगा।

’ चिंताओं से मुक्त होकर शरीर को ढ़ीला छोड़कर आराम करने से थकान दूर भागती है।

’ छोटी-छोटी बातों से परेशान होना छोड़िये, यह सब तो जिंदगी का हिस्सा है। यह सोचकर भी आप कुछ तनाव और थकान कम कर सकते हैं।

’ हंसने-हंसाने की आदत को विकसित करें। खुश रहने वाले लोग कम थकान महसूस करते हैं।

’ दर्द निवारक गोलियों का सेवन कम से कम करें। ये अभी तो आराम दिलाएंगी पर बाद में घातक सिद्ध हो सकती हैं।

’ नींद पूरी लेने से भी शारीरिक और मानसिक थकान दूर होती है। नींद सबसे बड़ा टॉनिक है, जिससे शरीर को सम्पूर्ण आराम मिलता है। अच्छी नींद हमारे शरीर को ही नहीं, मस्तिष्क को भी पूरा आराम देती है। इसलिए अच्छी नींद मिलने से आप पुनः पूरे जोश से काम करने लायक हो जाते हैं।

2 comments:

hempandey said...

उपयोगी जानकारी. धन्यवाद.

Udan Tashtari said...

आभार जानकारी का.

समय बहुमूल्य है, अतः एक-एक पल का सदुपयोग सार्थक कार्यों में करें.