आपकी उपयोगी रचनाओं एवं टिप्पणियों का स्वागत है.

उपयोगी सूचना

हिन्दी भाषा के समाचारपत्र तथा पत्रिकाएं यदि अपने प्रकाशनों के लिए ‘मीडिया केयर नेटवर्क’, ‘मीडिया एंटरटेनमेंट फीचर्स’ तथा ‘मीडिया केयर न्यूज’ की सेवाएं नियमित प्राप्त करना चाहें तो हमसे ई-मेल द्वारा सम्पर्क करें। आपके अनुरोध पर सेवा शुल्क संबंधी तथा अन्य अपेक्षित जानकारियां उपलब्ध करा दी जाएंगी।

हम इन फीचर एजेंसियों के डिस्पैच में निम्नलिखित विषयों पर रचनाएं प्रसारित करते हैं तथा डिस्पैच कोरियर अथवा ई-मेल द्वारा उपलब्ध कराए जाते हैं:-

राजनीतिक लेख, रिपोर्ट एवं विश्लेषणात्मक टिप्पणी, राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय चर्चा, सामयिक लेख, फिल्म लेख एवं स्टार इंटरव्यू, फिल्म गॉसिप, ज्ञानवर्द्धक एवं मनोरंजक लेख, रहस्य-रोमांच, घर परिवार, स्वास्थ्य, महिला जगत, युवा जगत, व्यंग्य, कथा-कहानी, मनोरंजन, कैरियर , खेल, हैल्थ अपडेट, खोज खबर, महत्वपूर्ण दिवस, त्यौहारों अथवा अवसरों पर लेख, बाल कहानी, बाल उपयोगी रचनाएं, रोचक जानकारियां इत्यादि।

लेखक तथा पत्रकार विभिन्न विषयों पर अपनी उपयोगी अप्रकाशित रचनाएं प्रकाशनार्थ ई-मेल द्वारा भेज सकते हैं।
Share/Bookmark

अभी तक यहां आए पाठक

Tuesday, May 25, 2010

खोज खबर: बीमारियां पैदा करने वाले जीवाणुओं की पहचान करेगी मशीन

प्रस्तुति: योगेश कुमार गोयल (मीडिया एंटरटेनमेंट फीचर्स)

तरह-तरह की बीमारियां पैदा करने वाले रोगाणुओं की मदद से बीमारियों की दवा बनाने के प्रयासों में दुनिया भर के वैज्ञानिक जुटे हैं। इसके अलावा किसी न किसी बीमारी के इलाज में कामयाब हो सकने योग्य लाखों रासायनिक अणुओं को परखने, उन्हें छांटकर अलग करने तथा उनसे दवा तैयार करने के प्रयोग भी चल रहे हैं। जाहिर है कि यह काम बहुत पेचीदा है और नए उपकरणों तथा नए सॉफ्टवेयर के बिना इसे कर पाना करीब-करीब असंभव सा है लेकिन उत्तरी इंग्लैंड में यार्कशायर स्थित ‘द डोन विटले’ नामक साइंटिफिक कम्पनी जीवाणुओं के अध्ययन के लिए विशेष उपकरण तथा विशेष सॉफ्टवेयर विकसित करने में सफल हुई है। कम्पनी ने बिना हवा के पनपने वाले जीवाणुओं के अध्ययन के लिए एक अनूठा वर्क स्टेशन तैयार किया है। कम्पनी ने एनारोबिक बैक्टीरिया को खाद्य पदार्थों, पानी तथा मेडिकल सेंपलों से अलग करने का काम इतना सटीक और आसान बना दिया है कि दुनिया के 20 देशों में ‘मैक्स’ नामक यही मशीन कार्य कर रही है और इस मशीन में अब एक और क्रांतिकारी संशोधन किया गया है, जिससे यह मशीन अब जीवाणु के चारों ओर के बदलते वातावरण का भी ध्यान रख सकेगी।

दुनिया में इस तरह का यह एकमात्र उपकरण है, जिसे आमतौर पर भोजन को विषाक्त बनाने वाले जीवाणुओं को विविध प्रकार के खाद्य पदार्थों से अलग करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इस नई मैक्स प्रणाली को हर तरह से चुस्त-दुरूस्त बनाया गया है। इसमें जीवाणु का आकार, आकृति, आंतरिक संरचना आदि सभी कुछ परखा जा सकता है। इसका रिमोट पांव से भी चलाया जा सकता है, जिससे उपकरण को खोलना, बंद करना तथा इस्तेमाल करना बहुत आसान हो गया है। प्रयोगकर्ता को इसके उपयोग के लिए उठने की जरूरत नहीं पड़ती तथा एक जगह बैठे-बैठे ही काम किया जा सकता है। जीवाणु प्रयोगशाला से बाहर न निकल सकें, इसकी भी व्यवस्था की गई है। (मीडिया एंटरटेनमेंट फीचर्स)

No comments:

समय बहुमूल्य है, अतः एक-एक पल का सदुपयोग सार्थक कार्यों में करें.